;

अपहरण

अपना पहला मामला सफलतापूर्वक निपटाने के बाद प्रिया अपनी छुट्टियों के मज़े लेने को आतुर है।तो जब उसकी पड़ोसन राखी उसे अपने साथ खरीदारी के लिए बाज़ार चलने को कहा तो पुलिस के दायित्वों से हट कर कुछ भी करने के लिए तैयार हो गई।हालांकि वह नहीं जानती थी एक दूसरा रोमांच उसकी प्रतीक्षा कर रहा है।उसकी खरीदारी में तब व्यवधान उत्पन्न हो जाता है जब दो पुरुष उसे और राखी को पकड़ कर और बांध कर एक वैन में लेकर फ़रार हो जाते हैं।जब उसकी आंखों से पट्टी हटाई जाती है तो वह खुद को प्रसिद्ध मानव तस्कर सैवियो और उसके औरतों के हरम पर पाती है।क्या लिखा है प्रिया के भाग्य में? क्या वह इस स्थिति से बाहर निकल पाएगी?


टिप्पणियाँ